जॉब के नाम पर इस महिला को भेजा विदेश, अब करवाया जा रहा ये काम


अफ्रीका से वीडियो आैर एसएमएस भेजकर चंचल ने लगाई बचाने की गुहार

Copyright Holder

अजमेर. यहां की एक महिला कबूतरबाजों के शिकंजे में फंस गई है। अच्छी सैलेरी की चाह में साउथ अफ्रीका पहुंची महिला को यह नहीं मालूम था कि जो बताया जा रहा है, वहां उससे उलटे हालात मिलेंगे। उसे अच्छी सैलरी तो दूर खाने तक लाले पड़ रहे हैं। झांसा देकर साथ ले जाने वाले धमकाते हैं आैर खाने के लिए 4-4 दिन पुराना खाना दे रहे हैं। यही नहीं, पासपोर्ट आैर मोबाइल फोन तक कब्जे में ले लिया गया है। महिला ने अफ्रीका से वीडियो भेजकर आपबीती सुनाई है।

यूं फंसी शिकंजे मे: जौसगज इलाके की रहने वाली चंचल सोनी कपड़ो की सिलाई कर अपनी 10 साल की बेटी वशिका काे पाल रही थी. इसके बाद वह साउथ अफ्रीका के मोजाम्बिक मायोपोथो के सिमागो शहर पहुच गई. ताकि वहा से पैसा भेजकर बेटी को अच्छे स्कूल मे पढ़ा लिखा सके.

Copyright Holder

उसके पड़ोस मे रहने वाले ललित और उसकी मां अंगूरी देवी ने चंचल सोनी को यह कहकर अफ्रीका भेजा था कि वहा बेटी-दामाद का अच्छा बिजनेस है आैर उन्हे एक भरोसेमद भारतीय की जरूरत है. वहा पर काले लोगो पर भरोसा नही किया जा सकता. अंगूरी की बेटी वंदना आैर दामाद योगेद्र सिह मोजाम्बिक मायोपोथो के सिमागो मे कारोबार करते है.

वाॅट्सएेप पर वीडियो भेज सुनाई आपबीती कहा मुझे बचा लो

चंचल ने अपने मकान मालिक दीपक शर्मा के मोबाइल पर वीडियो आैर एसएमएस भेजकर आपबीती सुनाकर मदद की गुहार की है. उसने बताया कि जिस काम के लिए बुलाया गया था. वो नही करवाकर रोजाना झाडू-पोछा आैर बर्तन साफ करवाए जा रहे है.

Copyright Holder

चंचल ने वीडियो आैर एसएमएस भेजकर जान बचाने की गुहार लगाई है. उसने कहा है कि अफ्रीका से अजमेर आने तक यदि उसे कुछ भी होता है. तो इसकी जिम्मेदारी वंदना योगेद्र की होगी.

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s