जानिए कछुए वाली अंगूठी का पूरा रहस्य, आपने भी पहनी है तो ज़रूर पढ़ें


Google

आजकल कछुआ वाली अंगूठी आमतौर पर बहुत सारे लोगों के हाथों में देखी जा सकती है। कुछ लोग इसे फैशन के तौर पर पहनते हैं, तो कुछ लोग इसे वास्तु के साथ जोड़कर पहनते हैं। वास्तु के अनुसार कछुए वाली अंगूठी पहनने से व्यापार, आत्मविश्वास और सेहत यह सभी अच्छे रहते हैं। इसके साथ ही लक्ष्मी जी का घर में निवास होता है। लेकिन कुछ बातें होती हैं, जिनको आप अंगूठी पहनते समय ध्यान में नहीं रखते हैं। जिसकी वजह से आपको लाभ नहीं होता है।

पुरानी कथाओं के अनुसार कछुए को भगवान विष्णु का अवतार माना गया है। कछुए को शांति, धैर्य, समृद्धि और निरंतरता का प्रतीक स्वरुप माना गया है। आपको यह अंगूठी पहनते समय यह ध्यान रखना चाहिए कि कछुए का सिर वाला हिस्सा, जो व्यक्ति पहन रहा है, उसकी तरफ होना चाहिए। इससे बाहर का पैसा भी आपकी ओर आकर्षित होता है। आप कछुए वाली अंगूठी को सीधे हाथ की मध्यमा अथवा तर्जनी अंगुली में पहन सकते हैं।

कछुए वाली अंगूठी को शुक्रवार के दिन ही खरीदें और फिर लक्ष्मी जी के सामने दूधिया पानी से धोकर, धूप अगरबत्ती करें। उसके बाद ही इस अंगूठी को पहने। आजकल फैशन वाली कछुए की अंगूठी बहुत ज्यादा पसंद की जा रही है। लोग इसे फैशन के तौर पर पहनते हैं। कुछ लोग इस अंगूठी को अपने बजट के मुताबिक चांदी अथवा सोने से बनवाते हैं। यह जरुरी नहीं होता कि कछुए वाली अंगूठी बहुत ज्यादा महंगी ही पहने तो लाभ होगा। आप किसी भी धातु से बने कछुए वाली अंगूठी को पहन सकते हैं, लेकिन उसे पूर्ण श्रद्धा के साथ और सही तरीके से पहना जाए तो ही वह लाभकारी होगी।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s